Welcome Guest You Can Login/Register
Gauri Shankar Rudraksha

Gauri Shankar RudrakshaCode: (RD-15)

  • 4000 In Stock

    *Incl. All Taxes

  • Ranking
    0 / 5

  • Product Code : RD-15
  • Item Type :Rudraksha Bead
  • Beads :1
  • Product Condition : New With Lab Test Certificate
  • Main Color : natural wooden colour
  • Product Type : 1
  • Product Tags : Gauri shankar rudraksha, Gauri Shankar Rudraksha Beads, Gauri Shankar Rudraksha Online, Rudraksha Beads, Natural Gauri Shankar Rudraksha Rudraksha, Buy Gauri Shankar Rudraksha
  • Note : We don't accept returns.

Gauri Shankar Rudraksha is the image of Ruler Shiva and Maa Parvati. The wearer of this dab is honored by both Ruler Shiva and Shakti. It gives happiness & better understanding in married life. The person who is suffering from delay marriage can also wear This rudraksha bead. We are supplier wholesaler of this Gauri Shankar Rudraksha beads which you can buy online. Gauri Shankar rudraksha buy online From Astroprediction.com, we Offer Genuine Products.

गौरीशंकर रुद्राक्ष

गौरी शंकर रुद्राक्ष को माता पार्वती और भगवान् शिव का प्रतीक माना जाता है। यह दोनों के अर्धनारीश्वर स्वरुप को दर्शाता है। इसे धारण करने पर मां गौरी और भगवान् शिव दोनों की ही कृपा प्राप्त होती है।

गौरीशंकर रुद्राक्ष को धारण करने के लाभ

  •  इसे मुख्य रूप से दाम्पत्य जीवन में आ रही बाधाओं के लिए धारण किया जाता है। पारिवारिक सामंजस्य बढ़ाने और गृहक्लेश कम करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।
  • जिन लोगों के विवाह में बाधा आ रही है, रिश्ता तय नहीं हो पा रहा है या तय होकर टूट जाता है, तो भी इस रुद्राक्ष को धारण करना बहुत लाभदायक है।
  • यदि प्रेम सम्बन्धों में किसी प्रकार की गलतफहमी उत्पन्न हो गई है या लड़ाई झगड़े ज्यादा होते हैं तो भी इसे धारण किया जा सकता है।
  • यदि आप भगवान् शिव के भक्त हैं तो आपको यह रुद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए। इससे पूजा में अधिक मन लगता है और भगवान् की कृपा प्राप्त होती है। इसे धारण करने वाला भगवान् गौरीशंकर को विशेष प्रिय होता है।

गौरीशंकर रुद्राक्ष को धारण करने की विधि

                    सामान्य रूप से गौरीशंकर रुद्राक्ष को धारण करने से पूर्व गाय के घी में डुबोने के बाद पंचामृत से स्नान करवाया जाता है और फिर भगवान् शिव  की जलहरी के नीचे रख देना चाहिए। इसके बाद साफ करके ‘‘ओम गौरीशंकराय नमः ‘‘ इस मंत्र का मन ही मन जप करते हुए धारण कर लेना चाहिए। एस्ट्रोप्रिडिक्शन डाट काम के द्वारा जो भी रुद्राक्ष आप खरीदते हैं उसकी सम्पूर्ण पूजन विधि मंत्र आदि हम साथ में भेजते हैं। यदि आप कहते हैं तो हम हमारे यहां के विद्वान पंडित जी के द्वारा प्राण प्रतिष्ठा भी करवा कर देते हैं।

कैसी पता चले गौरीशंकर रुद्राक्ष के असली या नकली होने का

                    वर्तमान समय में प्रत्येक वस्तु की हूबहू नकल तैयार होने लगी है। लोगों ने धर्म के विषय को भी नहीं छोड़ा है। हमारे प्रतिष्ठान में हम इस बात का विशेष ध्यान रखते हैं कि आपको जो भी वस्तु भेजी जा रही है, वह पूर्णतया असली ही हो। सामान्य आदमी के लिए रुद्राक्ष को आंखों से देखकर असली या नकली का पता लगाना बहुत मुश्किल होता है, इसीलिए  आप हमारे यहां से जो भी रुद्राक्ष खरीदते हैं, हम उसे पहले लेबोरेट्री से टेस्ट करवाते हैं और फिर असली होने के प्रमाण पत्र और एक्स रे रिपोर्ट के साथ आपको रुद्राक्ष उपलब्ध करवाते हैं। शुद्धता और गुणवत्ता के लिए आप astroprediction.com पर पूर्ण विश्वास कर सकते हैं।
Write Your Review
Customer Reviews

Related Products